_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"hindi.khoobsurati.com","urls":{"Home":"http://hindi.khoobsurati.com","Category":"","Archive":"http://hindi.khoobsurati.com/2017/08/","Post":"http://hindi.khoobsurati.com/making-bun-can-sometimes-damage-your-hair/","Page":"http://hindi.khoobsurati.com/contest/","Attachment":"http://hindi.khoobsurati.com/?attachment_id=43791","Nav_menu_item":"http://hindi.khoobsurati.com/25909/","Acf":"http://hindi.khoobsurati.com/?acf=acf_url"}}_ap_ufee

आप भी जाने मुहासों के प्रकार

चेहरे पर मुहासों का होना शारीरिक हार्मोन्स के परिवर्तन के कारण होता है। यह ज्यादातर 14 वर्ष की आयु से शुरू होकर 30 वर्ष की आयु तक कभी भी हो सकते हैं। इसमें चेहरे पर लाल दाने होते हैं, जो बाद में इसे दाग में बदल देते हैं। जिससे चेहरा काफी खराब हो जाता है। युवावस्था की उम्र में कदम रखते ही हमारी तेलीय ग्रथियां तेजी से सक्रीय होती है और ज्यादा तेल की मात्रा स्त्रावित होने से बाहर का प्रदूषण हमारी त्वचा को प्रभावित करता है। इससे धूल, मिट्टी और धुआं हमारी त्वचा पर एक नई परत के रूप में बैठ जाती है। जिससे सारे रोमछिद्र बंद हो जाते हैं और यह फुंसी का रूप ले लेते हैं। इससे काफी मात्रा में पस भरा होता है। मुहासें कई प्रकार के हो सकते है जैसे पसदार मुहासें, बिना पस कील के रूप में और काले खूटें के रूप में आदि। मुहासों की समस्या से परेशान लोग क्या-क्या नही करते है। पर क्या अपने मुहासों का बारे में जानती हैं, कि किस प्रकार के मुहासे आपके चेहरे पर हो रहे है। इसका इलाज क्या है। मुहासों से झुटकारा पाने के लिए किस प्रकार के साधनो का उपयोग करें जिससे इनसे झुटकारा मिल सके। इस प्रकार की समस्यां आज हर किसी के मन में सवाल खड़े कर रही है। जाने मुहासों के प्रकार…

The-first-is-to-know-the-type-of-treatment-MuhasonImage Source: https://www.dermcheckapp.com/

Pimples (फुंसी) – बाहरी और भीतरी प्रदूषण के चलते हमारी त्वचा सक्रंमण के घेरे में आ जाती है। जिससे चेहरे या गले में छोटे-छोटे दाने निकलने लगते हैं। ये दाने शरीर में खुजली को बढ़ाते हैं। इससे ज्यादा छूने से ये और तेजी से बढ़ते हैं। इसलिए इसे छूना नही चाहिए।

PapulesImage Source: http://fawzya.com/

Pustules – फुंसी के बढ़ने के बाद यह बढ़ा आकार ले लेते हैं। इसमें सफेद प्रकार का दाना पड़ने लगता है। जिस पर पस आदि भर जाता है। इसके छूने पर काफी दर्द सा महसूस होता है। इसे जिट के नाम से भी जाना जाता है। इसको छूने से यह त्वचा पर फैलता है।

PustulesImage Source: https://esthekosme.files.wordpress.com/

Closed Comedones – छोटे-बड़े दानों वाला यह मुहांसा बहुत ही कठोर होता है और इनमें मवाद भर जाता है। फिर यह अपने चारों तरफ सीस्ट बना लेते हैं। यह त्वचा में बहुत अंदर तक चलें जाते हैं। अगर इनका इलाज सही समय पर नही किया जाता तो यह विकराल रूप धारण कर लेते हैं।

Closed-ComedonesImage Source: http://organicdailypost.com/

Open Comedones – यह ब्लेकहेड्स के नाम से जाने जाते हैं। जो प्रदूषण, तेलीय त्वचा और सही देखरेख के अभाव के कारण होते हैं। ब्लैक हेड्स ज्यादातर नाक के दोनो तरफ और ठोड़ी ने नीचे होते हैं।

Open-ComedonesImage Source: http://www.areadewasa.com/

Cysts and Nodules – ये मुंहासो का सबसे गंभीर रूप होता है। यह त्वचा के अंदर लाल घाव के समान होता है। जिसमें दर्द, जलन, खुजली और सूजन काफी होती है। इसके ज्यादा फैलने के कारण इसे अल्सर के नाम से भी जाना जाता है। इसके अंदर म्वाद भर जाता है। इससे खून भी निकलता है। इसका समय पर इलाज ना होने से यह चेहरे में काफी फैल सकता है और त्वचा में दाग काफी गहरे छोड़ता है।
आपको अपने मुहासे के प्रकार के बारे में जानना बहुत जरूरी है क्योंकि आपको पता होना चाहिए कि आपके चेहरे पर किस प्रकार के मुहासे पनप रहे हैं। जिसका सही समय पर सही इलाज कर सकें और अपनी त्वचा को मुहासों के और अधिक फैलने से बचा सकें।

Cysts-and-NodulesImage Source: http://www.aocd.org/
Share.

About Author

"जिंदगी कितनी खुबसूरत है ये देखने के लिए हमें ज्यादा दूर जाने की जरुरत नहीं है, जहाँ हम अपनी आंखे खोल ले वहीँ हम इसे देख सकते है ।"

hellois61
Copyright 2015 hindi.khoobsurati.com