_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"hindi.khoobsurati.com","urls":{"Home":"http://hindi.khoobsurati.com","Category":"","Archive":"http://hindi.khoobsurati.com/2017/11/","Post":"http://hindi.khoobsurati.com/quick-recipe-try-this-simple-sweet-rice-recipe-with-coconut-at-home/","Page":"http://hindi.khoobsurati.com/contest/","Attachment":"http://hindi.khoobsurati.com/?attachment_id=46869","Nav_menu_item":"http://hindi.khoobsurati.com/25909/","Acf":"http://hindi.khoobsurati.com/?acf=acf_url"}}_ap_ufee

इसलिए मनाया जाता है गणेश चतुर्थी का पर्व, आप भी जानें

गणेश चतुर्थी का त्योहार भारत के लगभग हर हिस्से में अलग-अलग तरीके से मनाया जाता है। हिदूं धर्म के अनुसार इस दिन भगवान गणेश ने जन्म लिया था। इसलिए ही इस त्योहार को बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाता है। ऐसे तो गणेश चतुर्थी भारत के हर राज्य में मनाई जाती है, लेकिन महाराष्ट्र और उसके आसपास के इलाको में यह पर्व विशेष उत्सव के रूप में मनाई जाती है। गणेश चतुर्थी से 10 दिन तक गणेशोत्सव मनाया जाता है। इन दिनों श्रद्धालु भगवान गणेश की मूर्ति को अपने घर में स्थापित करते हैं।

here is why ganesh chaturthi celebrated every year 1image source:

इन 10 दिनों में गणेश जी की रोज पूजा की जाती है। गणेशोत्सव के आखिरी दिन गणपति जी की मूर्ति का विसर्जन किया जाता है और अगले साल बप्पा को फिर घर आने के लिए कहा जाता है।

here is why ganesh chaturthi celebrated every year 2image source:

यह भी पढ़ेः गणेश उत्सव के अवसर पर ट्राई करें यह 5 खूबसूरत साड़ियां

इस बार 25 अगस्त को गणेश चतुर्थी मनाई जाएगी। इस दिन आप गणेश जी की मूर्ति को घर में स्थापित कर सकती हैं। इन दिनों आप भगवान गणेश की पूजा करके अपने घर में सुख, संपन्नता और समृद्धि की स्थापना कर सकती हैं।

here is why ganesh chaturthi celebrated every year 3image source:

इस दिन कई लोग व्रत भी रखते हैं। भक्तों की यह श्रद्धा देख के चलते ही भगवान गणेश भी उनकी सभी मनोकामनाओं को जल्द ही पूरा करते हैं।

here is why ganesh chaturthi celebrated every year 4image source:

यह भी पढ़ेः भगवान श‌िव नाराज ना हों, इसके लिये सावन के महीने में ना करें ये 9 काम

भगवान गणेश के जन्म को लेकर कई कथाओं के बारे में आप भी जानती होंगी। उनमें से एक कथा यह भी है कि माता पार्वती ने अपने शरीर में हल्दी का लेप लगाया था। इस लेप को हटाने के बाद मां पार्वती ने इस लेप को जोड़कर गणेश की मूर्ति बनाई और उसमें जान भी डाल दी। इस तरह से गणेश जी का जन्म हुआ। इसके बाद भगवान गणेश महादेव और माता पार्वती के बेटे कहलाने लगे। इसी तरह की कई और कथा भी गणेश जी के जन्म को लेकर प्रचलित हैं।

here is why ganesh chaturthi celebrated every year 5image source:

यह भी पढ़ेः गणेश चतुर्थी पर्व मे बनाएं गणपति के प्रिय मोदक

Share.

About Author

hellois33
Copyright 2015 hindi.khoobsurati.com
Youtube to Mp3