_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"hindi.khoobsurati.com","urls":{"Home":"http://hindi.khoobsurati.com","Category":"","Archive":"http://hindi.khoobsurati.com/2017/10/","Post":"http://hindi.khoobsurati.com/know-about-the-importance-of-deepawali-and-some-fascinating-stories-related-to-it/","Page":"http://hindi.khoobsurati.com/contest/","Attachment":"http://hindi.khoobsurati.com/emailer_multicontent_2_02/","Nav_menu_item":"http://hindi.khoobsurati.com/25909/","Acf":"http://hindi.khoobsurati.com/?acf=acf_url"}}_ap_ufee

पपीता हैं फायदेमंद, पर कुछ लोगों के लिए होता हैं हानिकारक

 

पपीता सालभर मिलने वाला एक गुणों से भरपूर फल हैं। पपीता कच्चा हो या पका , इसे खाया जा सकता हैं। यह पेट की कई समस्यायों को खत्म करता है, बहुत से लोग इसे खाली पेट ही खाते हैं। कुछ लोग अपने शरीर को डिटॉक्स करने के लिए इसे सलाद के रूप में अपने आहार में शामिल करते हैं। यह शरीर के वजन को भी कम करता हैं क्योंकि इसमें एंटी – फंगल और एंटी बैक्टीरियल जैसे कई चिकित्सिय गुण होते हैं। इसके पत्तों में घातक डेंगू बुखार से लड़ने की क्षमता होती हैं।

इन सभी गुणों से भरपूर होने के बावजूद भी इसे गर्भवती महिलाओं को नहीं देना चाहिए। गर्भावस्था में इस फल के सेवन से कई दुष्प्रभाव हो सकते हैं। आइए जानते हैं पपीता के सेवन से होने वाले प्रतिकूल प्रभावों के बारे में।

यह भी पढ़ें – पपीता ही नहीं, इसकी पत्तियां भी है चमत्कारिक

1. फूड पाइप पर दुष्प्रभाव (Hampers food pipe) –

Hampers food pipeImage Source: 

हम सभी पपीते को एक अच्छे फल के रूप में जानते हैं लेकिन इस फल का अत्यधिक सेवन हमारे फूड पाइप ((oesophagus) पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता हैं। हम जो खाना खाते हैं वह इसी फूड पाइप के जरिए मुँह से पेट तक पहुँचता हैं इसलिए इस फल को हमेशा कम मात्रा में ही खाना चाहिए।

2. कभी – कभी एलर्जी का कारण बन सकता हैं (May cause allergy sometimes) –

May cause allergy sometimesImage Source: 

कच्चे पपीते में पाएं जाने वाला लेटेक्स एलर्जी का कारण बन सकता हैं इसलिए जब आप अगली बार इस फल को कच्चा ही खाने की सोचें सावधानी बरतें।

यह भी पढ़ें – कच्चा पपीता दिलाए शरीर के अनचाहें बालों से छुटकारा

3. गर्भपात का खतरा (Risk of abortion) –

Risk of abortionImage Source: 

इस फल के कई अद्भुत लाभ हैं लेकिन इसके बीज और जड़ गर्भपात की संभावना को बढ़ा सकते हैं। खासकर यह फल कच्चा हो इसलिए गर्भवती महिलाओं को इस फल को खाने से बचने का सुझाव हैं।

4. उर्वरता पर प्रतिकूल प्रभाव (Adverse effect on fertility) –

Adverse effect on fertilityImage Source: 

ऐसा कहा जाता हैं कि पपीते के बीजों से पुरुषों की प्रजनन क्षमता कम हो सकती है। इससे शुक्राणुओं की क्षमता एवं उसकी गतिशीलता प्रभावित होती हैं।

यह भी पढ़ें – पपीता का सेवन कर, कम हो सकता है आपका वजन

5. ब्लड शुगर को कम करता हैं (Lowers blood sugar) –

Lowers blood sugarImage Source: 

यदि आप ब्लड प्रैशर से पीड़ित हैं और इसके लिए दवाएं ले रहें हैं तो इस फल को खाने से बचना चाहिए क्योंकि यह ब्लड शुगर के स्तर को कम करता हैं। यह आपके स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता हैं।

6. यह विषाक्त हो सकता हैं (It can be toxic) –

It can be toxicImage Source: 

इसका अत्यधिक सेवन स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डाल सकता हैं क्योंकि इसमें अति संवेदनशील बेंजीन आइसोथियोसाइनेट जैसे विषाक्त तत्व पाएं जाते हैं।

यह भी पढ़ें – पपीता के ये सात फायदे आपको रखेंगे दुरुस्त

7. बच्चों में दोष हो सकता हैं (Can cause defects in babies) –

Can cause defects in babiesImage Source: 

पपीता की पत्तियों में यौगिग पेपैन होते हैं जो शिशुओं में जन्म दोष पैदा कर सकते हैं इसलिए गर्भवस्था से पहले और बाद कुछ समय तक इस फल से बचने का सुझाव दिया जाता हैं।

Share.

About Author

hellois38
Copyright 2015 hindi.khoobsurati.com
Youtube to Mp3