_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"hindi.khoobsurati.com","urls":{"Home":"http://hindi.khoobsurati.com","Category":"","Archive":"http://hindi.khoobsurati.com/2017/11/","Post":"http://hindi.khoobsurati.com/quick-recipe-try-this-simple-sweet-rice-recipe-with-coconut-at-home/","Page":"http://hindi.khoobsurati.com/contest/","Attachment":"http://hindi.khoobsurati.com/?attachment_id=46869","Nav_menu_item":"http://hindi.khoobsurati.com/25909/","Acf":"http://hindi.khoobsurati.com/?acf=acf_url"}}_ap_ufee

इन तरीकों से करे कान के दर्द को दूर

कान का दर्द ऐसा दर्द है जो किसी को भी हो सकता है, लेकिन इसमें बच्चे तो बच्चे बड़े भी बेचैन हो जाते है। कई बार कान का दर्द इतना बढ़ जाता है की आपका उठना-बैठना, सोना सब हराम हो जाता है। वैसे तो कान के दर्द के पीछे कई कारण होते है जैसे कान में नहाते वक्त पानी चले जाना, मौजूदा गंदगी, ठंड लगना लेकिन उनमें से एक कारण  होता है इन्फेक्शन.. जिसका दवाओं से इलाज हो सकता है। अगर आपको इसके इन्फेक्शन के अलावा कोई और समस्या हो गई हो तो आप घरेलू उपचार से निजात पा सकते है। कान के दर्द में घरेलू उपचार काफी हद तक ठीक कर देता है।

कान का दर्द ऐसाImage Source:

1. गर्म या ठंडे पानी का सेक लें-
अगर आप को कान का दर्द सता रहा है तो बर्फ या गर्म पानी से सेक ले सकते है जिससे आप को दर्द में आराम मिल सकता है। लेकिन इसके लिए आप एक सूती कपड़ा लें और उसे गर्म पानी में भिगोकर निचोड़ लें फिर इसे अपने कान के हिस्से को सेक लें। इसके अलावा आप ठंड़े पानी का भी इस्तेमाल कर सकते है, लेकिन इस बात का ध्यान रखें की पानी कान में ना जाएं वरना मुसीबतें बढ़ सकती है।

गर्म या ठंडे पानी काImage Source:

2. एसेन्शियल ऑयल से मालिश-
एसेन्शियल ऑयल से कान के हिस्से पर मालिश करने से रक्त परिसंचरण में सुधार आता है। इसके लिए आप नीलगिरी, अजवायन के फूल, लैवेंडर या कैमोमाइल तेल का इस्तेमाल कर सकते है। आप इनमें से कोई सा भी तेल लेकर उसकी कुछ बूंदें जबड़े, गर्दन और गाल पर ड़ालें और फिर नीचे की ओर दबाव ड़ालते हुए मालिश करें इससे आपको लाभ पहुंच सकता है।

tools and accessories for spa treatmentsImage Source:

3. लहसुन का लेप-
लहसुन में एंटी-इन्फ्लेमेट्री गुण भरपूर मात्रा में होता है जो कान के दर्द में कारगर होता है। इसको इस्तेमाल करने के लिए आप लहसुन की एक कली लें और उसे पीस लें और फिर उसे रुई में ड़ालकर एक गोल आकार बना लें। अब इस रुई की बॉल को आप कान के अंदर रख लें लेकिन ध्यान रहें की रुई कान के ज्यादा अंदर ना चली जाए।

लहसुन का लेपImage Source:

4. एसेन्शियल ऑयल की भाप-
कई लोगों को कान के यूस्टेचियन ट्यूब में तकलीफ होती है। ये ट्यूब नाक से जुड़ी होती है, नीचे तस्वीर में आप इसे देख सकते है। इसलिए एसेनशल ऑयल की मदद से आपको उसमें भी आराम मिल सकता है। इसके लिए आप एक बर्तन ले उसमें गर्म पानी कर लें फिर उस गर्म पानी में लैवेंडर या नीलगिरी तेल की 4 से 5 बूंदें ड़ाल कर भाप लें। भाप लेते समय ध्यान रखें कि अपना सर कवर कर लें ताकी सीधी भाप आपको लगे।

एसेन्शियल ऑयलImage Source:

5. प्याज का लेप-
आप इसको सुन कर चौंक रहे होंगे कि प्याज का कान से क्या लेना-देना, लेकिन आपको बता दें कि प्याज भी कान के दर्द में राहत देती है। इसके लिए आप प्याज के टुकड़े कर उसे आंच में सेक लें ताकि उसकी बदबू उड़ जाए। फिर जब प्याज के टुकड़े थोड़े गर्म हो तब उसे कान में रख लें। आप यकीन मानिए कि इस उपाय से आपके कान का दर्द छूमंतर हो जाएगा।

प्याज का लेप-Image Source:

6. सांस रोकने की तकनीक-
जब कॉनजेस्टन की वजह से यूस्टेचियन ट्यूब में रुकावट आती है, तब एक तकनीक काम आती है जिसे सांस बंद करने की पैतरेबाजी कहा जाता है, ये उपाय आपको राहत पहुंचा सकती है। इसके लिए आप लंबी सांस लें, मुंह और नाक एकदम बंद रखें और फिर नाक के जरिए हवा छोड़ने की कोशिश करें। इससे आपको राहत मिलेगी

सांस रोकने की तकनीक-Image Source:

आपने ध्यान दिया होगा कि बताए गए उपचारों में हर्बल तेल का इस्तेमाल करने की सलाह नहीं दी गई। हालांकि पुराने समय में कान को स्वस्थ रखने के लिए तेल ड़ाला जाता था। लेकिन कुछ अध्ययनों में पता चला है कि कान में तेल ड़ालने से इन्फेक्शन हो सकता है। इसलिए इन्फेक्शन और समस्याओं से बचने के लिए आप इन्हीं आसान उपायों का इस्तेमाल करें। अगर आपको इन उपचारों से भी आराम ना मिले तो हो सकता है कि आपको कोई गंभीर समस्या हो। तो तुरंत आप डॉक्टर से सम्पर्क करें।

आपने ध्यान दिया होगा कि बताएImage Source:
Share.

About Author

hellois53
Copyright 2015 hindi.khoobsurati.com
Youtube to Mp3