ADVERTISEMENT

आप भी खाते है किसी का झूठा, तो हो जाएं सावधान

खाना हमारे जीवन की सबसे आवश्यक जरूरत है। खाना हमारे शरीर को काम करने के लिए तैयार ही नहीं बल्कि एक तरह की शक्ति भी देता है। हम सभी एक दिन में कम से कम तीन बार खाना खाते हैं। ज्यादातर लोग ऑफिस में या कॉलेज में अपने दोस्तों के साथ खाना खातें हैं। एक साथ भोजन करने को हमेशा से ही अच्छा माना जाता है। अपने दोस्तों के साथ खाना खाते समय हम कई बार उनका झूठा भी खा लेते है। जो कि सही नहीं माना जाता। एक तरफ जहां ऐसा माना जाता है कि एक साथ खाना खाने से आप का प्यार बढ़ता है। वहीं दूसरी तरफ बुजुर्गों का कहना है कि हमें किसी का झूठा नहीं खाना चाहिए। बुजुर्गों के ऐसा कहने का कारण है क्योंकि हर इंसान के खाना करने का तरीका अलग होता है। जहां कुछ लोग खाना खाने से पहले अपने हाथों को अच्छे से धोना पसंद करते हैं, वहीं दूसरी तरफ कई लोग अपने हाथ नहीं धोते जिससे उनका झूठा खाना खाकर आप को किसी भी तरह का संक्रमण  हो सकता है और इससे आप प्रभावित भी हो सकते हैं। साथ ही ऐसा भी माना गया है कि अगर आप किसी का झूठा खा रहे हैं तो उसकी नकारात्मक बातें या सोच आपकी सोच और स्वभाव को भी प्रभावित कर सकती हैं।

खाना-हमारे-जीवन-की-सबसे-आवश्यक-जरूरत-हैImage Source: https://economize.catracalivre.com.br/

शास्त्रों में माना गया है कि खाना और भजन दोनों ही छिपाकर करना चाहिए। खाना हमारे शरीर को उर्जा देकर हमारे शरीर को एक तरह की शक्ति देता हैं, ताकि हम किसी भी काम को आसानी से कर सकें। खाना खाने से हमारे रक्त और शरीर दोनों में शक्ति आती हैं।। पंच कर्म पद्वति में इसको निर्वाह करने के कुछ नियम बताएं गए हैं, जिसमें ऐसा कहा गया है कि खाना खाते समय हमें ना तो किसी से अपना खाना शेयर करना चाहिए और ना ही किसी के सामने अपना खाना खाना चाहिए। ऐसा भी कहा जाता है कि खाना खाते समय हमें किसी तरह की बातों को अपने दिमाग में नहीं रखना चाहिए, ताकि खाना खाते समय हम किसी बात को सोचने पर मजबूर ना हो।शास्त्रों-में-माना-गया-है-कि-खाना-और-भजन-दोनोंImage Source: https://www.faredelbene.net/

किसी भी इंसान का झूठा खाने से आप के शरीर में उनके नाकारात्मक विचार आ जाते हैं। जिससे आपका स्वभाव भी सामने वाले व्यक्ति की तरह हो जाता हैं। हम चाहे अपने भाई का झूठा खाएं या फिर अपने दोस्त का या फिर अपने माता पिता का, झूठा खाने से हमारे स्वभाव में कई तरह के बदलाव आ ही जाते हैं। आइए जानते है कि किसी का झूठा खाना खाने के और क्या क्या अंजाम हो सकते हैं?

किसी-भी-इंसान-का-झूठा-खाने-से-आप-के-शरीरImage Source: https://nutreca.com/

सुखों में आती है कमी
किसी का झूठा खाना खाने से आपके सुखों में कमी आती है। ऐसा हम नहीं कह रहे हैं बल्कि ऐसा शास्त्रों में कहा गया है। किसी के साथ खाना शेयर करने या किसी का झूठा खाने से आपके सुखों में बहुत कमी आती हैं। आपकी बरकत नहीं हो पाती। आप जिस स्थिति पर आज हैं, कुछ सालों बाद भी वहीं पर खुद को पाते हैं।

सुखों-में-आती-है-कमीImage Source: https://i.ytimg.com/

घर में कलेश
आप मानें या ना मानें लेकिन आप अगर किसी का झूठा खाना खाते हैं तो इससे आपके घर परिवार पर गहरा असर पड़ता है। यह बातें अटपटी जरूर हैं लेकिन किसी का झूठा खाकर आपके घर में कलेश होना स्वाभाविक है। ऐसा  एक शोध में कहा गया है।

घर-में-कलेशImage Source: https://painkillerskill.org/

अशुद्ध विचार का आपके मन में आना
यह बात तो स्वाभाविक है कि जिस इंसान का झूठा आप खा रहे हैं, उसके अशुद्ध विचार आपके मन में जरूर आते हैं। जिससे आप के मन मतिष्क में उनकी नाकारात्मक बाते उतर जाती है। जो आपके स्वाभाव को पूरी तरह से बदल देता है।

अशुद्ध-विचार-का-आपके-मन-में-आनाImage Source: https://thespiritscience.net/

धन संचय नहीं हो पाता
अगर आप किसी का झूठा खा लें तो इससे आप धन का संचय या बचाव नहीं कर पाते। जहां एक तरफ आप के खर्चे बढ़ जाते हैं, वहीं दूसरी तरफ आप कुछ बचत नहीं कर पाते है। तो आज से अपने मित्रों का झूठा खाना बंद कर दें। नहीं तो आपको भी इन समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

धन-संचय-नहीं-हो-पाताImage Source: https://i.dailymail.co.uk/

Copyright 2018 hindi.khoobsurati.com

X

खूबसूरती और सेहत का खज़ाना!

स्किनकेयर व मेकअप टिप्स, घरेलू नुस्खे और बहुत कुछ पाएं सिर्फ एक क्लिक पर

पाएं हमारे डेली अपडेट यहाँ.
By subscribing the page, I agree to the terms & conditions.