ADVERTISEMENT

कैस्टर ऑयल के #61 फायदे(त्वचा, बाल, आंखें, वेट लॉस, स्तनपान, दांत आदि) – Castor Oil Benefits

कैस्टर ऑयल ( Castor Oil/Arandi Oil )के फायदे:

 

कैस्टर ऑयल (अरंडी का तेल) प्रकृति के द्वारा दिया गया एक वरदान है जिसका उपयोग आज के समय में औषधि के रूप में रोगों के उपचार के लिए किया जाता है। इसमें मौजूद प्राकृतिक तत्व ना हमें जानें कितनी प्रकार की बीमारियों से निजात दिलाने में मदद करते है। कैस्टर ऑयल आज के समय की जादुई औषधि ही नहीं है बल्कि कई समस्याओं का भी हल है, वैसे तो हमारे आसपास ऐसे की औषधीय उपचार मौजूद है, पर कैस्टर ऑयल ऐसा प्राकृतिक उपचार है जिसका उपयोग शरीर के रोगों को दूर करने के साथ-साथ बाल, त्वचा एवं शरीर के वजन से संबंधित समस्याओं के निदान के लिए भी किया जा सकता है। जो अन्य तेल नहीं कर सकते है। यदि आप भी नहीं जानती हैं कि कैस्टर ऑयल क्या है और कैस्टर ऑयल को कैसे इस्तेमाल किया जा सकता है तो पढ़ें इस आर्टिकल को…

 कैस्टर ऑयल (अरंडी का तेल) क्या है और यह कैसे बनाया जाता है??

कैस्टर ऑयल एक सुनहरे पीले रंग का तेल है, कैस्टर पौधे के बीज को दबाने से एक ठंडा चिपचिपा पदार्थ निकलता है। इसे रिसिनस कॉम्यूनिस के नाम से भी जाना जाता है। यह पौधा केवल भारत और अफ्रीका के जंगलों में ही पाया जाता है।

castor plant

कैस्टर ऑयल को विभिन्न क्षेत्रों में भिन्न-भिन्न नामों से जाना जाता है, जैसे हिन्दी में इसे “अरंडी का तेल” कहा जाता है, तो तेलुगू में आमुडामु, मराठी में एरंडेला तेला, तमिल में कैस्टर ऑयल को अमनक्कु इनने, मलयालम में अवनककेन्ना और बंगाली में रेरिर तेल के नाम से जाना जाता है। इस तेल से अखरोट के समान खुशबू आती है। इसका रंग अरंडी के तेल की मात्रा पर निर्भर करता है।

ऊपर जाएं 

कैस्टर ऑयल के विभिन्न प्रकार (कौन सा खरीदें)

types of castor oil

जब आप कैस्टर ऑयल दुकान में खरीदने जाएंगी तो आपको वहां सुनहरे रंग में कई तरह के तेल देखने को मिलते हैं, जिनके नाम निम्न प्रकार के होते हैं….

 आर्गनिक कैस्टर ऑयल
 रेग्यूलर कैस्टर ऑयल
 जमैकन ब्लैक कैस्टर ऑयल

जमैकन ब्लैक कैस्टर ऑयल और दूसरे कैस्टर ऑयल के बीच होने वाले अंतर?

Jamaican black castor oil vs castor oil

जमैकन ब्लैक कैस्टर ऑयल तेल बालों के लिए सबसे अच्छा माना जाता है, परतुं जमैकन ब्लैक कैस्टर ऑयल में मौजूद कैस्टर के बीज की राख से यह तेल काफी काला हो जाता है। इस तेल में राख और तेल का मिश्रण होता है, जिसके कारण जमैकन ब्लैक कैस्टर ऑयल को 100% शुद्ध कहना उचित नहीं होगा। इसकी अपेक्षा लोग दूसरे अन्य तेलों को लेना ज्यादा पसंद करते है।

आपको खुद ही इस बात का चुनाव करना होगा कि आपको किस प्रकार के ऑयल को खरीदना है। इसको खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखें कि इसमें किसी प्रकार की मिलावट ना हो और यह पूरी तरह से शुद्ध हो।

कैस्टर ऑयल का कैसे करें उपयोग

कैस्टर ऑयल में एंटी बैक्टीरियल और एंटी फंगल के गुण पाए जाते हैं। इसमें पाए जानें वाले प्राकृतिक औषधिय गुणों की गुणवत्ता को देखकर ही लोग इसका प्रयोग कई तरीकों से करने लगे है। आज के समय में कैस्टर ऑयल का उपयोग सौंदर्य प्रसाधनों के अलावा कई अन्य तरह से भी किया जाने लगा है। इसका साबुन, शैम्पू, कपड़ों के उत्पादन के समय में, दवाइयों के रूप में तथा त्वचा एवं बालों में विभिन्न प्रकार के तेलों के रूप में उपयोग किया जाने लगा है। अरंडी के तेल के उपयोग के बारे में आज हम आपको बता रहें हैं। जानें इस आर्टिकल के द्वारा..

ऊपर जाएं

 कैस्टर ऑयल के सेहत से सम्बन्धित फायदे

कैस्टर ऑयल हमारे स्वास्थ्य के लिए कई तरह से फायदेमंद होता है, जिसके विषय में हम कल्पना भी नहीं कर सकते हैं। अरंडी के तेल में पाए जानें वाले प्राकृतिक औषधिय गुण हमारी सेहत के लिए एक वरदान के रूप में जानें जाते है। इसके चमत्कारिक गुणों को जानकर आप भी आश्चर्य में पड़ जाएंगे। इन्हीं गुणों की उपयोगिता को देखकर इसका उपयोग भारत में ही नहीं बल्कि अन्य देशों में भी औषधिय उपचार के रूप में किया जाने लगा है। इसकी इसी उपयोगिता को देखते हुए आज हम बता रहें हैं कि अरंडी के तेल का उपयोग कैसे करें

कैस्टर ऑयल एक प्राकृतिक औषधि के रूप में सदियों से इस्तेमाल किया जा रहा है। कैस्टर ऑयल के पैक से कब्ज दूर होने के साथ ही पाचन क्रिया में सुधार होता है।  इसके अलावा यह शरीर को सुचारू रूप से काम करने में मदद करता है। इससे पाचन क्रिया सही होने से मल त्याग करते समय समस्या नहीं होती है, ना ही कब्जियत होने के दौरान एनीमा की जरूरत पड़ती है। अरंडी के तेल का पैक घर पर बड़ी ही आसानी से तैयार किया जा सकता है। इसके प्रयोग के लिए एक पुराने कपड़े के साथ ही एक शीशी की आवश्यकता पड़ती है, जो कैस्टर ऑयल को एकत्रित करके रखने के काम आती है। तीन दिनों में एक बार एक चम्मच कैस्टर ऑयल का सेवन करने से आप कब्ज की समस्या से राहत पा सकती हैं।

• वैज्ञानिक शोधों के अनुसार कैस्टर ऑयल शरीर में अधिक टी-कोशिकाओं के निर्माण में सहायक होता है, जो शरीर के ट्यूमर को बढ़ने से रोकते हैं। साथ ही यह तेल जोड़ों के दर्द में, मांसपेशियों के दर्द में और शरीर में सूजन होने पर कैस्टर ऑयल को दवा के रूप में प्रयोग किया जाता है। कैस्टर ऑयल का प्रयोग करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। जिससे श्वेत रूधिर कणिकाएं बढ़ती है।

types of pain

 जिन लोगों के शरीर में तिल या मस्से अत्यधिक संख्या होती हैं वे लोग कैस्टर ऑयल का उपयोग करके कुछ ही महिने में इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं।

castor oil for moles
 कैस्टर ऑयल में एंटी बैक्टीरियल, एंटी फंगल और एंटी वायरल गुण पाए जाते है। जो शरीर को बाहरी संक्रमण से बचाने का काम करते हैं।

castor oil to get rid of infections

ऊपर जाएं

त्वचा में कैस्टर ऑयल के फायदे   

त्वचा में निखार लाने के लिए कैस्टर ऑयल सबसे अच्छा उपचार माना जाता है। यह शुष्क त्वचा के लिए वरदान के समान है। कैस्टर ऑयल का उपयोग करने से त्वचा में नमी आती है। साथ ही इससे और भी कई तरह के फायदे मिलते है। कैस्टर ऑयल चेहरे पर किस तरह से निखार लाने का काम करता है, जानें इसके बारे मे

• यह तेल शुष्क त्वचा पर एक प्राकृतिक मॉइस्चराइजर के रूप में काम करता है, जिससे त्वचा में नमी बनी रहती है।

castor oil for dry skin

•इसके अलावा यह त्वचा में होने वाले बाहरी संक्रमण को रोककर, त्वचा को बैक्टिरिया मुक्त करता है। इसके साथ ही अरंडी के तेल में मौजूद रासायनिक तत्व बैक्टीरिया से लड़कर हमें कील मुंहासों से निजात दिलाने का काम करते है।

castor oil to get rid of pimples
कैस्टर ऑयल बढ़ती उम्र के प्रभाव के रोककर त्वचा के कोलेजन को बढ़ाता है, जिससे त्वचा जवां दिखने के साथ गोरी और सुंदर बनती है।

कैस्टर ऑयल में पाए जानें वाले ओमेगा -3 फैटी एसिड मुँहासे के दाग धब्बों को दूर कर त्वचा को साफ सुदर चमकदार बनाने में मदद करते है।

• यदि आपके होंठ काले होने के साथ फट रहें हैं तो आप अरंडी के तेल का उपयोग कर सकती हैं। यह फटे हुए होठों के साथ पैरों की फटी हुई एड़ियों की समस्या को दूर करने में मदद करता है।castor oil for cracked heels and lips

कैस्टर ऑयल के उपयोग से गर्भावस्था के दैरान होने वाले स्ट्रैच मार्कस् को भी दूर किया जाता है। स्टैच मार्कस् को दूर करने के लिए अरंडी के तेल को इस्तेमाल करना एक बेहतर विकल्प है। इसके लिए कैस्टर ऑयल को गुनगुना करके धीरे-धीरे प्रभावित क्षेत्र की मालिश करें, इससे निशान कम होने लगते है।

ऊपर जाएं

बालों के लिये कैस्टर ऑयल के फायदे

कैस्टर ऑयल त्वचा के साथ-साथ बालों के लिए भी काफी अच्छा उपचार है। इसका उपयोग करने से बालों में चमत्कारिक फायदे देखने को मिलते है। हम नीचे बता रहें हैं कि कैस्टर ऑयल से बालों में किस प्रकार के फायदे देखने को मिलते हैं।

 

 

कैस्टर ऑयल बालों की ग्रोथ के लिए सबसे अच्छा घरेलू उपचार है। इसका उपयोग करने के लिए आप इस तेल के साथ नारियल के तेल का भी उपयोग कर सकती हैं। दोनों का मिश्रण तैयार करके आप इससे बालों की जड़ों पर मालिश करें। कुछ ही दिनों में आपके बाल सुंदर, घने और मुलायम हो जाएंगे।

castor oil for hair
• अक्सर देखा जाता है कि कई लोगों के आईब्रो की ग्रोथ काफी कम होती है, आईब्रो की ग्रोथ के लिए भी अरंडी का तेल एक अच्छा उपचार है। इसके तेल से रोज मालिश करने से बाल जल्द ही आने लगते है।

• बालों की खुश्की के साथ ही रूसी को खत्म करने के लिए आप कैस्टर ऑयल का उपयोग कर सकती है। ये बालों की हर समस्या के समाधान का सबसे अच्छा उपचार है। इसकी मदद से आप बालों में जलन और खुजली जैसी समस्याओं से भी निजात पा सकती है। यह तेल बालों के अंदर की परत पर जाकर सूक्ष्मजीवों को बढ़ने से रोकता है।

castor oil to get rid of dandruff
बरडॉक की जड़ और कैस्टर ऑयल:भारत में पाई जाने वाली बरडॉक की जड़ को यदि आप कैस्टर ऑयल के साथ मिलाकर बालों पर लगाती है, तो इससे बालों की खोई हुई चमक वापस आ जाती है। यह बालों की ग्रोथ के साथ सूजन को भी करने में मदद करता है।

कैस्टर ऑयल में पाए जानें वाले विटामिन ई के तत्व बालों को पोषित करके उन्हें बेहतर बनाते है। यह एक प्राकृतिक कंडीशनिंग के रूप में भी काम करता है। बालों के उपचार के लिए इस तेल का उपयोग सप्ताह में एक बार अवश्य करें।

• बालों के साथ-साथ आईब्रो में होने वाली रूसी को खत्म करने के लिए कैस्टर ऑयल सबसे अच्छा उपचार है। सोने से पहले इस तेल की कुछ बूंद से भौहों की रगड़ते हुए मालिश करें। एक सप्ताह के अंदर इसके परिणाम देखने को मिल जाएंगे।

• इन समस्याओं के अलावा कैस्टर ऑयल को बालों के रंग में सुधार लाने के लिए भी जाना जाता है।

castor oil for hair benefits
दोमुंहे बालों से छुटकारा पाने के लिए कैस्टर ऑयल की मालिश सिर पर नियमित रूप से रोज रात को सोने से पहले करें। इससे बाल स्वस्थ होने के साथ ही इनकी अच्छी ग्रोथ होने लगेगी।

 

बालों की ग्रोथ के लिए किस तरह का कैस्टर ऑयल लेना चाहिए?

जमैकन ब्लैक कैस्टर ऑयल बालों की ग्रोथ को बनाए रखने का सबसे अच्छा उपचार है। जो बड़ी ही आसानी के साथ मार्किट में उपलब्ध हो जाता है। इस तेल में किसी भी प्रकार के कोई रासायनिक तत्वों का प्रयोग नहीं किया गया है। इसके अलावा, जमैकन ब्लैक कैस्टर ऑयल में प्राकृतिक रिसिनोलिक एसिड नामक यौगिक होते है, जो बालों की बाहरी इंफेक्शन से रक्षा करते है और बालों को सूर्य की किरणों से बचाने के लिए एक कवच के रूप में तैयार रहते है। यह तेल त्वचा को बाहरी संक्रमण से बचाने का काम भी करता है। यह त्वचा में होने वाला एक्जिमा, फंगल, तिल और मस्से के साथ अन्य संक्रमणों से त्वचा की रक्षा करता है।

castor oil to get rid of scalp infection

ऊपर जाएं

आखों के लिये कैस्टर ऑयल के फायदे

आंखों के उपचार में कैस्टर ऑयल से होने वाले फायदों के बारें में भले ही आप ना जानती हो, पर कैस्टर ऑयल उपयोग दूसरे देशों में, जैसे- मिस्र के फिरौन, फारसी और चीन के लोगों में काफी समय से किया जाता रहा है। कैस्टर ऑयल के इन्हीं आश्चर्यजनक फायदों के बारे में आज हम बात कर रहें हैं।

castor oil for eye

कैस्टर ऑयल में विटामिन ई के साथ फैटी एसिड और रिसिनोलिक एसिड पाया जाता है, जो अंदर की गंदगी को बाहर निकालने का काम करता है। यह तेल आंखों की सफाई के लिए सबसे अच्छे एजेंट के रूप में काम करता है।

• इस तेल की मालिश आंखों के नीचे और आंखों के चारों ओर करते रहने से, आंखों के नीचे होने वाले काले घेरे दूर हो जाते हैं। यह आंखों के नीचे पढ़ने वाली लाइनों को हटाता है।

castor oil to get rid of dark circles
• अक्सर लंबे समय तक कंप्यूटर पर काम करते रहने से आंखें सूखने लग जाती है। जिससे काफी थकान भी महसूस होती है। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए आंखों में अरंडी के तेल की एक बूंद डालें। इस उपाय को आप सोते समय ही करें। इससे आपको काफी आराम मिलेगा।

• यदि आपकी आंखों पर मोतियाबिंद होने की संभावनाएं नजर आ रही हो तो इसका इलाज आप कैस्टर ऑयल से कर सकती है। यह मोतियाबिंद को भी ठीक करने का सबसे अच्छा उपचार है।

ऊपर जाएं

शरीर के बढ़ते वजन को घटाने के लिए कैस्टर ऑयल के फायदे

castor oil for weight loss

अक्सर देखा जाता है कि गर्भावस्था के समय महिलाओं का वजन काफी तेजी से बढ़ने लगता है एक तो वजन दूसरा पेट के खिंचाव से स्ट्रैचमार्क्स, इन सभी समस्याओं के समानधान के लिए कैस्टर ऑयल एक दो धारी तलवार के रूप में काम करता है, जो इस तरह की समस्या का समाधान आसानी से कर सकता है। कैस्टर ऑयल शरीर के वजन कम करने के साथ खिंचाव के निशान को कम करने में मदद करता है।

शरीर के बढ़ते वजन के कम करने के लिए आप रोज सुबह के समय नाश्ते से पहले एक चम्मच अरंडी के तेल का सेवन करें। इसका सेवन आप फलों के रस के साथ भी कर सकती है। इससे पाचन क्रिया ठीक होती है। जिससे कब्जियत नहीं होती और इसका लगातार उपयोग करते रहने से आप एक सप्ताह के अंदर ही अपने वजन को कम करने में सफलता पा सकती है।

various benefits of castor oil

 

कैस्टर ऑयल से पेट की सतह की मालिश करने से पेट की चर्बी घटने लगती है। जिससे फैट कम होने लगता है। साथ ही शरीर पर पड़ने वाले दागों को भी खत्म करने में यह तेल मदद करता है।

 

 

कैस्टर ऑयल का सेवन करने से यह शरीर के मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में मदद करता है, जिससे वजन काफी आसानी के साथ कम हो जाता है।

 

 

ऊपर जाएं

स्तनपान करवा रही माताओं और उनके बच्चों के लिए अरंडी का तेल

अरंडी का तेल हर किसी के लिए काफी आवश्यक होता है। गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के पेट में होने वाले स्ट्रेच मार्क्स को भी अरंडी का तेल साफ करता है। इतना ही नहीं इस सुनहरे तेल के और भी कई लाभ हैं। हालांकि आपको गर्भाव्स्था के दौरान इस तेल के इस्तेमाल करने से पहले सावधानी बरतनी चाहिए। आइए आपको बताते हैं कि अरंडी का यह तेल किस तरह से स्तनपान करवा रहीं माताओं और उनके बच्चों के लिए लाभदायक होता हैं।using castor oil during breastfeeding

अरंडी के तेल का इस्तेमाल कर स्तनपान करवा रहीं मां अपने स्तनों की मसाज कर सकती हैं। इससे स्तनपान कराने वाली माताएं बेहतर तरीके से स्तनपान करवा सकती हैं। हालांकि अरंडी के तेल का समर्थन चिकित्सा विशेषज्ञ नहीं करते हैं।

• लेकिन अरंडी के तेल की उपयोगिता का समर्थन करने के लिए किसी वैज्ञानिक सबूत की जरूर नहीं है। इसके गुणों के कारण स्तनपान करवा रहीं माताएं किसी दूसरे तेल का इस्तेमाल करने के बजाय अरंडी के तेल का ही इस्तेमाल करती हैं।

• कई उपयोगकर्ता महिलाओं ने यह प्रश्न उठाया है कि “क्या मैं गर्भव्स्था के दौरान अरंडी के तेल का इस्तेमाल अपने बालों पर कर सकती हूं?” विशेषज्ञ प्रसव से पहले और बाद में किसी भी तरह के आंतरिक या सामयिक या आरंडी के तेल का इस्तेमाल करने का सुझाव नहीं देते हैं।
• पूर्ण जानकारी के अभाव में, गर्भवती माताओं के लिए अरंडी के तेल का इस्तेमाल करना उचित नहीं है।

using castor oil for hair
• लेकिन अरंडी का यह तेल छोटे बच्चों के लिए काफी सुरक्षित होता है। इसका इस्तेमाल आप बच्चे की शुष्क त्वचा की मालिश करने के लिए कर सकती हैं। इससे बच्चे को शुष्क त्वचा और खुजली से आराम मिलता है। बच्चे को नहलाने के बाद अरंडी के तेल की कुछ बूंदों से जरूर मालिश करें।

अरंडी के तेल में एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी बैक्टीरियल के बेहतरीन गुण होते हैं जो कि शिशुओं में त्वचा की समस्या और ब्लेमिशिंग का इलाज करने में मदद करते है। आप अपने छोटे बच्चों की त्वचा पर इस तेल को गुनगुना करके मालिश कर सकती हैं। आपको कुछ ही समय के बाद अपने बच्चे की त्वचा कोमल और साफ दिखने लगेगी।

castor oil massage on baby's dry skin
• आप अरंडी के तेल से बच्चे के स्केल्प में मसाज कर सकती हैं, इससे बच्चे के बाल घने और चमकदार हो जाएंगे। इस बात का ख्याल जरूर रखें कि अरंडी के तेल को आप अपने बच्चे की आंखों, गुप्तांग और होठों पर लगाने से बचें।

अरंडी का तेल का इस्तेमल कर आप बच्चों की त्वचा में होने वाले इंफेक्शन का इलाज कर सकती है। आप अरंडी के तेल को गुनगुना करके उनके पेट में एंटी क्लॉक वाइस मालिश भी कर सकती हैं।

how to use castor oil on different body parts
अरंडी के तेल से आप अपने बच्चों के शरीर के मांसपेशियों की मालिश कर सकती हैं। बच्चों के लगातार विकास के कारण अक्सर उनके मांसपेशियों में दर्द रहता है।

अरंडी के तेल की कुछ बूंदों का इस्तेमाल कर आप डायपर से होने वाले रेशिश से अपने बच्चे को राहत दिला सकती हैं। अरंडी के तेल में मौजूद तत्व बच्चों के शरीर पर रेशिश के कारण होने वाली जलन को दूर करने में मदद करते है। यह बच्चों को फंगल इंफेक्शन से भी बचाता है।

• आप सूरज से जली हुई त्वचा में भी अरंडी के तेल का इस्तेमाल कर सकती हैं। इनकी त्वचा नाजुक होती है और यह सनबर्न के खतरे को दूर करने में भी मदद करती है। इतना ही नहीं, यह शिशुओं में एक्जिमा का उपचार करने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है।

castor oil for sunburn

ऊपर जाएं

पुरुषों के लिए कैस्टर ऑयल के फायदे

पुरुषों की एक निश्चित उम्र में उनकी हेयरलाइन के कम होने की समस्या जरूर देखने को मिलती हैं। आजकल पुरुषों को हेयरलाइन के कम होने और बालों के झड़ने जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। लेकिन अगर आप भी इस समस्या का सामना कर रहे हैं तो अरंडी के तेल के रूप में आपके पास एक उपाय मौजूद है।

castor oil for men

• गुनगुने अरंडी के तेल से अपने स्केल्प में सर्कुलर मोशन में मालिश कर लें। इस दौरान आप अपने हेयरलाइन पर खास ध्यान दें। इसके बाद अपने सिर को शॉवर कैप या र्स्काफ से कवर करके रात भर इस तेल को बालों में लगा रहने दें।

• आप बेहतरीन परिणाम के लिए अरंडी के तेल का इस्तेमाल एक सप्ताह तक रोजाना करें।

• आप चाहें तो अरंडी के तेल के साथ कुछ अन्य तेलों को इस्तेमाल करके इसे अपने बालों में लगा लें।

अरंडी के तेल का इस्तेमाल करने से बालों की जड़ों में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है और इससे बालों की ग्रोथ प्राकृतिक तरीके से होती है।

• यह आपके बालों को आगे होने वाले हेयरफॉल से भी बचाने में मदद करता है।

castor oil prevents hair fall

दर्द से राहत पाने के लिए कैस्टर ऑयल

सन् 1900 में समग्र चिकित्सा के जनक माने जाने वाले एडगर कैस ने यह सुझाव दिया कि अरंडी के तेल का इस्तेमाल करके गठिया की बीमारी में होने वाले जोड़ों के दर्द से राहत पाई जा सकती है। अरंडी के तेल में होने वाला अद्भूत फैटी एसिड, रिकिनोलिक एसिड दर्द से राहत दिलाता है। हम आपको कुछ ऐसे तरीके बताने जा रहे हैं जिसकी मदद से आप अरंडी के तेल का इस्तेमाल कर आप जोड़ों के दर्द से राहत पा सकते हैं। अरंडी के तेल की इस निम्नलिखित विधि से आप सूजन से राहत पा सकती हैं।

castor oil to get rid of joint pain

अरंडी के तेल में एक कपड़ा भिगोकर रख दें और फिर इसे अपने जोड़ों में और शरीर के दर्द वाले हिस्से में लगाएं। इससे आपको गठिया के रोग से राहत मिलेगी

• आप चाहे तो अरंडी के तेल को हर्बल चाय के साथ सेवन कर सकती हैं। लेकिन अगर आपको इसका स्वाद पसंद ना आएं तो ऐसे में आप बाजार में उपलब्ध अरंडी ऑयल के सप्लिमेंट्स का इस्तेमाल कर सकती हैं। रात के समय अरंडी के तेल का सेवन करने से आपका पेट अगले दिन अच्छी तरह से साफ हो जाएगा।

• अदरक पाउडर को उबाल लें। इसके बाद इसके मिश्रण को ठंडा होने दें। अब इसमें एक चम्मच अरंडी का तेल डाल लें। अरंडी के तेल के इस मिश्रण का सेवन आप दिन में दो बार करें।

castor oil to relieve joint pain
• आप चाहें तो अरंडी के तेल को हल्का गुनगुना करके इसे प्रभावित जगह पर रात भर लगा रहने दें। इससे आपका दर्द अगली सुबह ठीक हो जाएगा।

ऊपर जाएं

चमकदार दांतों के लिए कैस्टर ऑयल

अरंडी के तेल का इस्तेमाल कर आप अपने मुंह के बैक्टीरिया और गंदगी को साफ कर सकती हैं। लेकिन यह जरूरी नहीं है हर कोई सफेद दांतों को पाने के लिए अरंडी के तेल का इस्तेमाल करता हो।

castor oil for teeth

क्या अरंडी के तेल को गर्म किया जा सकता है?

लोगों के मन में काफी लंबे समय से यह सवाल आ रहा है कि क्या अरंडी के तेल को गर्म किया जा सकता है? इसका जवाब है नहीं। आप इस तेल की बोतल को देखें, आपको इसमें इसी विषय पर एक लेबल लिखा हुआ दिखेगा, इसलिए इसे कभी भी गर्म नहीं करना चाहिए।

ऊपर जाएं

दूसरे तेलों के साथ कैस्टर ऑयल का कॉम्बिनेशन

आप चाहें तो शुद्ध अरंडी के तेल का इस्तेमाल कर सकती हैं या फिर आप इसे दूसरे तेलों के साथ मिलाकर भी इसका इस्तेमाल कर सकती हैं। आइए आपको कुछ ऐसे ही तेलों का संयोजन बताते हैं जिनका इस्तेमाल आप अरंडी के तेल के साथ कर सकती हैं।

• अरंडी के तेल के साथ जोजोबा ऑयल ( हेयर सीरम)

आप अपने बालों के लिए अरंडी के तेल का इस्तेमाल कर खुद ही एक हेयर सीरम बना सकती हैं। आप अरंडी के ऑयल की 3 चम्मच और जोजोबा ऑयल या आर्गन ऑयल की 1 चम्मच लेकर इसे अच्छी तरह से मिक्स करके एक समरूप मिश्रण तैयार कर लें। इस मिश्रण को अपने बालों में लगाकर 5 मिनट के लिए मसाज करें।

• अरंडी के तेल के साथ ऑलिव ऑयल ( एंटी एजिंग ऑयल)

castor oil having some anti aging properties

आप अरंडी तेल और ऑलिव ऑयल की 1:3 अनुपात मिला लें। इसके बाद इस मिश्रण का इस्तेमाल अपनी त्वचा को मसाज करने के लिए करें। इसका इस्तेमाल करने से आपको एक सप्ताह में ही फर्क नजर आने लगेगा। अगर आपकी त्वचा ऑयली है तो ऐसे में आप ऑलिव ऑयल की जगह जोजोबा ऑयल का इस्तेमाल कर सकती हैं।

• अरंडी के तेल के साथ नारियल का तेल ( रूखी त्वचा के लिए अरंडी के तेल का उपचार)

अगर आपकी त्वचा काफी लंबे समय से ड्राई हो रखी हो तो ऐसे में आप अरंडी के तेल के साथ नारियल के तेल का इस्तेमाल कर सकती हैं। इस उपचार के लिए आप दोनों तेलों का 1:1 अनुपात ले लें और फिर अपनी त्वचा को इससे दिन में दो बार साफ कर लें। आपको अपनी त्वचा में बदलाव एक सप्ताह में ही दिखने लग जाएंगे और आपकी त्वचा का रूखापन गायब हो जाएगा।

• अरंडी के तेल के साथ तिल का तेल ( हाथों के लिए क्रीम)

अरंडी के तेल के साथ तिल के तेल का 1:1 अनुपात मिला लें। इसके बाद इसे एक हैंडी बोतल में रख दें। इसके बाद आप इसका इस्तेमाल कर अपने हाथों को साफ करें। इससे आपको अपने हाथ एक ही सप्ताह में कोमल और स्मूथ महसूस होने लगेंगे।

• अरंडी तेल के साथ बादाम का तेल ( हेयर ग्रोथ के लिए )

बादाम के तेल के साथ अरंडी के तेल का इस्तेमाल करने से हमारे बालों को काफी फायदा होता है। आप इन दोनों तेलों को बराबर मात्रा में मिला लें और फिर इससे अपने स्केल्प की मसाज करें। इसके बाद अपने सिर को आप कवर कर लें और अगली सुबह अपने बालों को धो लें। इससे आपके बालों में दो हफ्तों में ही बेहतरीन परिणाम प्राप्त होंगे।

ऊपर जाएं

कैस्टर ऑयल के साइड इफैक्ट्स

हर सिक्के के दो पहलू होते हैं, ठीक जिस तरह से अरंडी के तेल के काफी फायदे हैं तो वहीं कैस्टर ऑयल के साइड इफेक्ट्स भी हैं। इस बात का ख्याल रखें कि अरंडी के तेल का इस्तेमाल एक सीमित समय तक ही करें। कई ऐसे प्रश्न हैं जिनके जवाब हर कोई जानना चाहता है, जैसे कि क्या अरंडी के तेल को आंतरिक रूप से सेवन करना सही है? आइए आपको कैस्टर ऑयल के कुछ सामान्य संभव दुष्प्रभावों के बारे में बताते हैं।

कैस्टर ऑयल का जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। अगर आप इसका सेवन कर लेते हैं तो इससे कब्ज और पेट कमजोर भी हो सकता है। कैस्टर ऑयल का इस्तेमाल करने से पहले किसी चिकित्सक से एक बार जरूर परामर्श ले लें।

कैस्टर ऑयल का जरूरत से ज्यादा इस्तेमाल कभी-कभार कब्ज को दस्त में भी बदल सकता है।

• अगर आप अपनी त्वचा और बालों में कैस्टर ऑयल का इस्तेमाल करने जा रहीं हैं तो ऐसे में पहले पैच टेस्ट जरूर कर लें। इसके इस्तेमाल से कुछ लोगों को रेशिश भी हो सकते है। इतना ही नहीं यह ऐलर्जिक भी हो सकता है।

• मांसपेशियों में ऐठन के दौरान अरंडी के तेल का इस्तेमाल करने के कई संभावित दुष्प्रभाव होते हैं। इसी के साथ अरंडी के ऑयल का इस्तेमाल करने से पेट में दर्द भी हो सकता है।

castor oil for muscle soreness and stomachache
• अगर आप कैस्टर ऑयल का इस्तेमाल जरूरत से ज्यादा करती हैं तो इससे कमजोरी और चक्कर भी आ सकते हैं।

कैस्टर ऑयल का इस्तेमाल लंबे समय तक करने से शरीर में पानी और पोषक तत्वों की कमीं हो जाती है। अरंडी के तेल का इस्तेमाल करने से पोषक तत्वों के साथ ही पाचन क्रिया भी रूक जाती है।

• अगर आपको कैस्टर ऑयल से एलर्जी है तो यह आपके दिल की धड़कन को बढ़ा सकता है। अरंडी के तेल से एलर्जी होने की भी संभावित प्रतिक्रिया हो सकती है। अगर ऐसा होता है तो तुरंत चिकित्सा सहायता लें।

• सांस ना लेना भी अरंडी के तेल का एक दुष्प्रभाव है। अगर आपको कैस्टर ऑयल के इस्तेमाल के बाद सांस लेने में कठिनाई महसूस हो रही है तो ऐसे में तुरंत डॉक्टर को दिखाएं। आप चाहें तो यह भी जांच करवा सकती हैं कि कैस्टर ऑयल से आपको एलर्जी है या फिर नहीं।

कैसे जानें कि कैस्टर ऑयल से आपको एलर्जी होती है या नहीं? अपनी बांह में अरंडी के ऑयल का परीक्षण करें। अगर आपकी त्वचा में लाल निशान या खुजली होती हैं तो यह इस बात का संकेत है कि आपको अरंडी के तेल से एलर्जी है। ऐसे में आप तुरंत जाकर अपना हाथ धो लें।

• इस बात का ख्याल रखें कि आप कैस्टर ऑयल को कभी भी सीधे अपनी त्वचा या आंखों के पास इस्तेमाल ना करें। एलर्जी टेस्ट करने के दौरान भी आप इस बात को बखूबी याद रखें और अगर आपको अरंडी तेल से एलर्जी होती हैं तो ऐसे में आप तुरंत डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

usage instructions for castor oil

ऊपर जाएं

Copyright 2018 hindi.khoobsurati.com

X

खूबसूरती और सेहत का खज़ाना!

स्किनकेयर व मेकअप टिप्स, घरेलू नुस्खे और बहुत कुछ पाएं सिर्फ एक क्लिक पर

पाएं हमारे डेली अपडेट यहाँ.
By subscribing the page, I agree to the terms & conditions.