_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"hindi.khoobsurati.com","urls":{"Home":"https://hindi.khoobsurati.com","Category":"","Archive":"https://hindi.khoobsurati.com/2018/06/","Post":"https://hindi.khoobsurati.com/these-signs-shows-that-your-kid-have-germs-in-their-stomach/","Page":"https://hindi.khoobsurati.com/contact-us/","Attachment":"https://hindi.khoobsurati.com/these-signs-shows-that-your-kid-have-germs-in-their-stomach/worm-5/","Nav_menu_item":"https://hindi.khoobsurati.com/52144/","Custom_css":"https://hindi.khoobsurati.com/smart-mag/","Oembed_cache":"https://hindi.khoobsurati.com/102ebe2e07459f025b95ebe02763198d/","Acf":"https://hindi.khoobsurati.com/?acf=acf_url"}}_ap_ufee

को वॉशिंग के बारे में जानें कुछ खास बातें

हर महिला चाहती है कि उसके बाल काफी सुंदर और घने हों, लेकिन बालों में इन गुणों को पाने के लिए आपको अपने बालों में को वॉशिंग भी करनी चाहिए। को वॉशिंग का मतलब है कंडीशनर वॉशिंग। यह तकनीक ज्यादातर उन लड़कियों के लिए आवश्यक होता है जिनके बाल घुंघराले और बेजान होते हैं। को वॉशिंग से उनके बालों में मॉश्चराइजर आ जाता है। इन प्रक्रिया में आप को शैम्पू की जरूरत नहीं होती। आपको अपने बालों को कंडीशिनिंग से ही धोना होता है। इस प्रक्रिया में हमें दो बार कंडीशनिंग लगाना होता है। सबके पहले शैम्पू की जगह और उसके बाद अपने स्केल्प को मसाज करने के लिए कंडीशिनिंग करना बेहद जरूरी होता है।

co-washing-all-you-need-to-know1Image Source:

अगर सामान्य शैम्पू वॉश और कंडीशिनिंग वॉशिंग की बात करें तो को वॉशिंग हमारे बालों के लिए ज्यादा सौम्य होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि शैम्पू में कैमिकल, हार्ष डिटर्जेंट और पॉलिमर जैसी कई कठोर चीजें होती हैं। अगर आप शैम्पू की बात करें तो शैम्पू करने से बालों के स्केल्प में होने वाला प्राकृतिक ऑयल बाहर निकल जाता है। वहीं को वॉशिंग के समय यह ऑयल बाहर नहीं निकलता और स्केल्प का हेल्दी ऑयल स्केल्प में ही बना रहता है। इसके अलावा अगर आपने अपने बालों को हाईलाइट या फिर कलर किया हुआ है तो ऐसे में आप को वॉशिंग कर सकती हैं, हमारा विश्वास मानिए यह आपके बालों के रंग को हल्का नहीं करेगा।
को वॉशिंग किन्हें नहीं करनी चाहिए?

co-washing-all-you-need-to-know2Image Source:

को वाशिंग कुछ महिलाओं पर काफी अच्छे पर काम करता है, लेकिन उन महिलाओं को इस तकनीक का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए जिनकी स्केल्प काफी ऑयली है, क्योंकि इस तकनीक का इस्तेमाल करने से स्केल्प काफी ऑयली हो जाती है। स्केल्प ऑयली होने की वजह से बालों का गिरना बढ़ जाता है।

कौन से कंडीशनर का करें इस्तेमाल?

जब आप को वॉशिंग करें तो ऐसे में आप सिलिकॉन मुक्त कंडीशनर का इस्तेमाल कर सकती हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि सिलिकॉन पानी में घुलता नहीं है। इसके अलावा यह ध्यान रखें कि आप एक ऐसे कंडीशनर का इस्तेमाल करें जिसका पीएच लेवल काफी कम हो। बालों के स्केल्प के लिए पीएच का लेवल कम से कम होना चाहिए क्योंकि उच्च पीएच लेवल से कंडीशनर में एक असंतुलन पैदा होने लग जाता है।

co-washing-all-you-need-to-know3Image Source:

को वॉशिंग का इस्तेमाल कितनी बार करें?

को वॉशिंग का इस्तेमाल आप जब चाहें तब कर कर सकती हैं क्योंकि यह आपके बालों को रूखा और बेजान होने से रोकता है। लेकिन आपको इस बात का खास ध्यान देना होगा कि इस तकनीक के इस्तेमाल से कुछ हफ्तों के बाद आपके स्केल्प और बाल दोनों में ही गंदगी और प्रदूषण इकट्ठा हो जाता है, जिस से मुक्ती पाने के लिए आप सप्ताह में एक बार सल्फेट मुक्त शैम्पू से अपने बालों को साफ कर सकती हैं ताकि आपके बाल ऑयली और ग्रीसी ना हो।

co-washing-all-you-need-to-know4Image Source:

hellois4

Copyright 2018 hindi.khoobsurati.com