सावन में हरे रंग की चूड़ियां पहनना क्यों पसंद करती हैं महिलायें, जानें यहां

सावन का माह हरियाली से भरा होता है। इस माह में महिलायें हरे रंग की चूड़ियां ही अधिक पहनती हैं। लेकिन आखिर क्या कारण है की इस माह में महिलायें हरे रंग की ही चूड़ियां पहनना पसंद करती हैं। मान्यता है की यह रंग प्रकृति का होता है और इस रंग की चूड़ियां तथा कपड़े पहनकर हम प्रकृति के प्रति अपना आभार व्यक्त करते हैं। यह भी माना जाता है इस माह में हरे रंग की चूड़ियां पहनने के पीछे किस्मत कनेक्शन भी होता है। आइये जानते हैं इस माह में हरे रंग की चूड़ियां पहनने के पीछे क्या क्या मान्यता तथा विश्वास हैं।

1 – जीवन साथी की लंबी उम्र

 जीवन साथी की लंबी उम्रImage source:

जिस प्रकार से लाल रंग एक सुहागन स्त्री के जीवन में सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है। उसी प्रकार से हरा रंग भी उसके वैवाहिक जीवन में खुशहाली का प्रतीक माना जाता है। माना जाता है इस माह में यदि स्त्री हरे रंग की चूड़ियां पहनती हैं तो उसको भगवान शिव का आशीष मिलता है और उसके पति की उम्र भी लंबी होती है।

यह भी पढ़ें – खूबसूरती ही नहीं, हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होती हैं चूड़ियां

2 –  कैरियर या व्यापार में सफलता

कैरियर या व्यापार में सफलताImage source:

ज्योतिष के अनुसार कुंडली में बुद्ध ग्रह मानव के व्यवसाय तथा कैरियर से जुड़ा होता है। बुद्ध का रंग हरा होता है। अतः जो इस रंग को धारण करता है वह अपने कैरियर तथा व्यापार में सफलता हासिल करता है।

3 – सौभाग्य को बढ़ाता है

सौभाग्य को बढ़ाता हैImage source:

सावन का माह भगवान शिव का माह कहा जाता है। भगवान शिव हमेशा प्रकृति के करीब रहें हैं इसलिए ही उनको हरा रंग बहुत प्रिय है। सावन के माह में चारों और हरियाली भी होती ही है। अतः मान्यता है इस माह में हरा रंग किसी भी रूप में धारण करने से मानव का सौभाग्य बढ़ता है और उसको भगवान शिव की कृपा भी प्राप्त होती है।