_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"hindi.khoobsurati.com","urls":{"Home":"https://hindi.khoobsurati.com","Category":"","Archive":"https://hindi.khoobsurati.com/2018/12","Post":"https://hindi.khoobsurati.com/benefits-of-vitamin-e.html","Page":"https://hindi.khoobsurati.com/contact-us.html","Attachment":"https://hindi.khoobsurati.com/benefits-of-vitamin-e.html/img_%e0%a4%86%e0%a4%82%e0%a4%96%e0%a5%8b%e0%a4%82-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%b2%e0%a4%bf%e0%a4%8f-%e0%a4%ab%e0%a4%be%e0%a4%af%e0%a4%a6%e0%a5%87%e0%a4%ae%e0%a4%82%e0%a4%a6_2018_12-1","Nav_menu_item":"https://hindi.khoobsurati.com/52144.html","Custom_css":"https://hindi.khoobsurati.com/smart-mag.html","Oembed_cache":"https://hindi.khoobsurati.com/102ebe2e07459f025b95ebe02763198d.html","Acf":"https://hindi.khoobsurati.com/?acf=acf_url","Wpcf7_contact_form":"https://hindi.khoobsurati.com/?post_type=wpcf7_contact_form&p=53539"}}_ap_ufee

नवरात्र के समय में भूलकर भी न करें ये 10 गलतियां

भारतवर्ष में मनाई जाने वाले नवरात्रि के पर्व की शुरूआत 10 अक्टूबर से प्रारंभ होने जा रही है। इस बार नवरात्रि पर एक विशेष संयोग बन रहा है। जिस अवसर पर मां भगवती को मनाने या खुश करने के तैयारियां हर घर में बड़े जोर-शोर से चल रही है। इनके आगमन के लिए लोग नौ दिन का व्रत भी रखते हैं। नवरात्रि आमतौर पर नौ दिनों की होती है, लेकिन इस बार की नवरात्रि नौ दिनों की नहीं, बल्कि पूरे दस दिनों की है। ऐसा शुभ संयोग इस बार पूरे 110 वर्षों बाद देखने को मिल रहा है और इस बार नवरात्रि के दस में से आठ दिनों में विशेष सिद्धियोग भी होने वाले हैं।

इन दस दिनों तक मां भगवती की पूजा के समय आप कोई भी ऐसी गलती ना करें जो आपको लिए घातक सिद्ध हो, इसके लिए जरूरी है कि आप इन बातों को जान लें। आप नौवरात्र से जुड़े इन नियमों को पहले से ही पूरी तरह से जान कर इनका पूरा पालन करें, तभी आपकी पूजा सार्थक मानी जा सकती है।

नवरात्र

इन 10 बातों का रखें ध्यान-

1. महिलाओं का करें सम्मान

महिलाओं का करें सम्मान

नवरात्र में मां भगवती की पूजा हर घरों पर की जाती है पर जिल घरों पर औरतों का सम्मान नही होता है वहां पर की गई पूजा निरर्थक ही रहती है। क्योकि जिस घर में औरतों का सम्मान नहीं होता है, वहां महालक्ष्मी का खभी भी वास नहीं हो सकता। हमेशा अपने घर की स्त्रियों का सम्मान करना चाहिए।

2. ब्रह्मचर्य का पालन

 ब्रह्मचर्य का पालन

नवरात्र के समय मां भगवती को प्रसन्न करने के लिये हर कोई व्रत रखता है। इसलिये व्रत के दौरान ब्रहमचार्य व्रत का पालन करें। अपने आप पर संयम बनाकर रखें। पूरी साफ-सफाई के साथ इस व्रत का पालन करें।

3. खाली घर ना छोड़ें

खाली घर ना छोड़ें

यदि आपने अपने घर पर कलश स्थापित किया है तो पूरे दस दिनों तक अखण्ड जोत जलाते हुए उस स्थान को खाली ना छोड़े। क्योकि किसी भी वक्त मां लक्ष्मी का वास आपके घर पर हो सकता है।

4. घर में कलह से रहे दूर

 घर में कलह से रहे दूर

जिस घर में हंसी- खुसी का माहौल हमेशा बना होता है उस घर में मां लक्ष्मी की कृपा भी हमेशा बनी रहती है। इसलिये इन दिनों में घर पर कलह ना हो इस बात का खास ख्याल रखना चाहिये।

5. सुबह उठकर मां की पूजा करें

सुबह उठकर मां की पूजा करें

सालभर में दो बार आने वाले इस नवरात्रि के पवित्र दिनों को आप सोने में व्यर्थ ना करें। नवरात्रि के दिनों में प्रात:काल में उठकर स्नान करें फिर मां देवी की पूजा करें और उनका मंत्रों के साथ ध्यान करें।

6. सात्विक भोजन करें

सात्विक भोजन करें

नौ दिन तक घर पर तामसी भोजन का सेवन बिल्कुल ना करें, इन दिनों आप सात्विक भोजन बनाए। अपने घर पर लहसुन प्याज के सेवन से दूर रहे।

7. बड़ों का ना करें अनादर

बड़ों का ना करें अनादर

नवरात्र में मां भगवती का पूरा नौ दिन धरती पर वास होता है। इन दिनों हर किसी को अपने बड़ों का या फिर किसी भी गरीब का अनादर नही करना चाहिये। कहा भी गया है कि मां भगवती आपके दरबार में किसी भी रूप पर आ सकती है। इसलिए कभी किसी का अनादार नहीं करना चाहिए।

8. ना करें ये काम

ना करें ये काम

नवरात्रि के दौरान व्रत करने वालों को काले कपड़े नही पहनना चाहिये साथ ही अपनी दाढ़ी-मूंछ एवं बाल नाखून नही कटवाने चाहिये।

9. पशु-पक्षियों जानवर को ना करें परेशान

पशु-पक्षियों जानवर को ना करें परेशान

नवरात्रि के दिनों में पशु-पक्षियों जानवर आदि को परेशान नहीं करना चाहिए।क्योकि मां भगवती का वाहन भी एक जानवर है। संभव हो सके तो आपके घर पर जितने भी भी सदस्य हों, उतने ही पेड़ लगाएं। ऐसे करने से घर में सुख-शांति बनी रहती है।

10. अनजान व्यक्ति के प्रसाद से रहें दूर

अनजान व्यक्ति के प्रसाद से रहें दूर

इन दिनों मां भगवती को प्रसन्न करने के लिये काफी जादू टोने करते है। जिसका प्रसाद वो आपको खाने के लिये या फिर रखने के लिये भी दे सकते है इसलिये आप ऐसे लोगों से रहें दूर।

व्रत में यह करें-

व्रत के समय में आपको फलाहार का सेवन करना चाहिए, इसके लिए आप अपने खाने में समारी चावल, सिंघाड़े का आटा, कुट्टू का आटा, साबूदाना, के साथ मूंगफली, सेंधा नमक, आलू, फल, मेवे, का प्रयोग करना चाहिए। मां देवी की पूजा करने के लिए ब्रम्हमुहूर्त में स्नान कर पूजन करना चाहिए। क्योंकि सूर्योदय के पहले पूजा करने से देवी मां प्रसन्न होती हैं। इन नौं दिनों तक हर देवी की पूजा करके उनके अनुरूप भोग लगाएं एंव उनकी पूजा करें। इन नौ दिनों तक हर देवी की पूजा करने के लिए हर एक देवी के अनुरूप उन्हें फूल अर्पित करें। ऐसा करने से देवी मां प्रसन्न होती हैं। चंदन, तुलसी या रुद्राक्ष की माला का उपयोग कर नौं दिनों तक जाप करें।