_ap_ufes{"success":true,"siteUrl":"hindi.khoobsurati.com","urls":{"Home":"https://hindi.khoobsurati.com","Category":"","Archive":"https://hindi.khoobsurati.com/2018/06/","Post":"https://hindi.khoobsurati.com/not-because-of-mobile-computer-this-is-the-reason-why-your-eyesight-gets-weak/","Page":"https://hindi.khoobsurati.com/contact-us/","Attachment":"https://hindi.khoobsurati.com/not-because-of-mobile-computer-this-is-the-reason-why-your-eyesight-gets-weak/books-cover/","Nav_menu_item":"https://hindi.khoobsurati.com/52144/","Custom_css":"https://hindi.khoobsurati.com/smart-mag/","Oembed_cache":"https://hindi.khoobsurati.com/102ebe2e07459f025b95ebe02763198d/","Acf":"https://hindi.khoobsurati.com/?acf=acf_url"}}_ap_ufee

बच्चों में दिख रहे हैं ये लक्षण तो न करें नजरअंदाज, हो सकता है ब्रेन ट्यूमर

पुराने समय में लोगों के जीवन स्तर की बात करें तो वह काफी साधारण और सरल सा होता है। उस समय में लोगों को होने वाली बीमारियां भी काफी साधारण सी रहती थी जैसे कि मलेरिया हैजा और ज्यादा से ज्यादा टीवी। मगर जैसे जैसे लोगों का जीवन स्तर ऊंचा उठा वैसे लोगों की बीमारियों का स्टैण्डर्ड भी बड़ गया। आज कल लोगों को कैंसर, ब्रेन ट्यूमर, डायबटिज, हार्ट स्ट्रोक इत्यादि जैसी बड़ी बीमारियां होती हैं। इनका मुख्य कारण हमारा नया लाइफस्टाइल और खाद्य सामग्री की गुणवत्ता में आई गिरावट है। यह बीमारियां सिर्फ बड़ो को ही अपनी चपेट में नही लेती बल्कि बच्चे भी इसके शिकार बन रहें हैं आज हम आपको बताने जा रहे हैं उन कुछ खास लक्षणों के बारे में, जो कि अगर आपके बच्चे में दिखते हैं तो यह ब्रेन ट्यूमर जैसी घातक बीमारी के आगमन के संकेत है। आईये जानते है इसके बारे में।

ब्रेन ट्यूमर के लक्षण

अधिकतर लोग इस बात से अंजान होते हैं कि 3 से 15 साल की उम्र के बच्चों में ब्रेन ट्यूमर के टिशू पनपने का खत्तरा रहता है। दरअसल यह एक विशेष प्रकार के विषाणु से होने वाले संक्रमण की वजह से पन्पता है। हालांकि शुरुआत में इस संक्रमण का पता नही चलता, मगर कुछ समय बाद इसके कुछ खास लक्षण दिखाई देने लगते हैं। इन्हें पहचानना बेहद जरुरी रहता है, ताकि शुरुआत में ही इसका इलाज करवा पाए।

1. सिर दर्द का होना

सिर दर्द का होना

इस घातक बीमारी का सबसे शुरुआती संकेत सिर में दर्द का रहना होता है। यूं तो आज के भागदौड़ भरे माहौल में सिर दर्द जैसी परेशानी का होना बेहद आम बात है, मगर अगर यह परेशानी लगातार व लंबे समय से चली आ रही है तो इसे नजरअंदाज करना बेवकूफी है। साथ अगर योग, व्यायाम या फिर मात्र सिर नीचे झुकाने पर बच्चों को दर्द महसूस हो रहा है तो उन्हें फौरन डाक्टरी जांच के लिए ले जाना चाहिए।

2. बहरापन आना

बहरापन आना

इस बीमारी का दूसरा संकेत कानो की सूनने की क्षमता में फर्क आना होता है। साथ ही इस बीमारी के प्रभाव से मरीज के कान में हर समय हल्की सी एक ध्वनि आती रहती है। इसके अलावा कमजोरी का आना और बोलने दिक्कत महसूस करने की स्थिति में डाक्टर का परामर्श लेना अनिवार्य हो जाता है।

3. उल्टियां आना

उल्टियां आना

चक्कर आना, जी मिचलाना, धुंधला दिखाई देना, आंखों की नसो में सूजन आ जाना या फिर उल्टी आना भी इस जानलेवा बीमारी के संकेत है। अगर आपको इनमे से कोई भी लक्षण अपने बच्चे में दिखता है तो फौरन बच्चे की डाक्टरी जांच करवाए।

4. मांसपेशियों का ऐठ जाना

मांसपेशियों का ऐठ जाना

इस बीमारी से प्रभावित लोगों की मांसपेशियों में ऐठन आनी शुरु हो जाती है। साथ उनके हाथों और पैरों में कपकपाहट रहती है।

5. याददाश्त कम होना

याददाश्त कम होना

ब्रेन ट्यूमर से ग्रस्त शख्स की याददाशत में कमी आ जाती है। अगर आपको लगता है कि आपका बच्चा पहले के मुकाबले अब ज्यादा चीजों को भुलने लगा है तो इसे नजरअंदाज न करें। उसे फौरन डाक्टर के पास ले जाकर उसकी जांच करवाएं।

hellois1

Copyright 2018 hindi.khoobsurati.com