ADVERTISEMENT

ऑलिव स्किन टोन क्या है? जानिए इसके बारे में..

हमारी त्वचा किस प्रकार की है इस बारें बहुत से लोग नही जानते। जबकि हमें सभी बुनियादी त्वचा के रंगों से अवगत होना चाहिये। ऑलिव स्किन कुछ ऐसी है जिसके बारें में भी अधिकांश लोग परिचित नहीं हैं!

आम तौर पर लोग केवल त्वचा को दो रगों को ही पहचानते है एक काला तो दूसरा गोरा। लेकिन क्या आपने कभी ऑलिव स्किन टोन के बारे सुना है यदि नही ,तो जानें ये किस प्रकार की स्किन है इसकी देखभाल करने का तरीका क्या है। और किस तरह के मेकअप का उपयोग करने से स्किन आकर्षक बन सकती है तो आईये जानते है ऑलिव  स्किन टोन के बारें में…

ऑलिव स्किन टोन क्या है?

ऑलिव स्किन टोन की बात करें, तो हमारी त्वचा का रंग त्वचा की बनावट पर निर्भर करता है। ऑलिव  स्किन, ग्रीन-टिंटेड स्किन पिगमेंट के साथ न्यूट्रल अंडरटोन का सही मिश्रण होता है, जो आपकी त्वचा को एक खूबसूरत ऑलिव टिंट देता है। ऑलिव स्किन टोन में दो प्रकार के रंग देखने को मिलते है हल्के रंग की ऑलिव  स्किन का रंग मटमैला पीले कलर का दिखता है और जिनका गहरा रंग होता है वो भूरे रंग में होता है बैसे ऑलिव  स्किन के बारें कम ही लोग जानते है क्योकि यह स्किन बहुत ही कम लोगों की त्वचा में ही देखने को मिलती है लेकिन जिसकी यह स्किन है वो बहुत ही खास लोगों मे से एक है।

ओलिव स्कीन टोन

द फिट्ज़पैट्रिक स्केल

हमारे शरीर में जब मेलेनिन का उत्पादन घटता या बढ़ता है तो इसका सीधा असर हमारी त्वचा के रंग पर पड़ता है और इसकी को देखते हुए त्वचा विशेषज्ञों नें फिजपैट्रिक स्केल विकसित किया जो त्वचा के विभिन्न रंगों को अलग करने में मदद करती है।

आपकी त्वचा किस प्रकार की है और किस रंग की है। इस जानकारी को प्राप्त करने के लिये त्वचा के रंग को संख्यात्मक रूप से वर्गीकृत करता है। जैसे ऑलिव स्किन टाइप V या IV में है इसे जानकारी के लिये आपको फिट्ज़पैट्रिक स्केल में टेस्ट काराना होगा। यदि आप भी अपनी त्वचा के रंग बारें में जानना चाहते है तो अपने डर्मेटोलॉजिस्ट द्वारा फिट्ज़पैट्रिक स्केल टेस्ट जरूर करवाएं। यह आपकी त्वचा की उचित देखभाल करने में आपकी मदद करेगा।

द फिट्ज़पैट्रिक स्केल

ऑलिव स्किन में होने वाली समस्यायें

ऑलिव स्किन टोन की बात करे तो यह ऐसी स्किन हो जो बहुत की कम लोगों में देखने को मिलती है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है यह त्वचा काफी अच्छी भी हो सकती है इस त्वचा वाले लोगों को भी कई तरह के समस्यायें होती है। जैसेः-

  • स्किन टैंनिग
  • हाइपर पिगमेंटेशन
  • स्किन डिसकलरेशन
  • ऑयली स्किन

ओलिव स्कीन में होने वाली समस्यायें

ऑलिव स्किन के मेकअप प्रोडेक्ट

ऑलिव स्किन जैसी त्वचा के लिये किस तरह के मेकअप प्रोडेक्ट का उपयोग करना चाहिये। यह काफी मुश्किल हो जाता है। आपको इसके लिये कौन से प्रोडेक्ट उपयोग में लाना चाहिये। उसके बारें में हम आपको बता रहे है आगे पढ़ें।

ऑलिव स्किन के लिए ब्लशर

ओलिव स्किन के लिए ब्लशर

चेहरे पर हल्का गुलाबी दिखने के लिये ब्लशर काफी परफेक्ट है। यह त्वचा को ब्राइट लुक देने में मदद करता है। ब्लशर एक तरह का हाइलाइटर  है जिसकी मदद से आप दोनों का काम कर सकते है।

ऑलिव स्किन के लिए आईशैडो

ऑलिव स्किन के लोग इस बात से सहमत होंगे कि मेकअप के दौरान सही आईशैडो का चयन करना काफी मुश्किल हो जाता है इस त्वचा के रंग में गोल्ड या सिल्वर रंग का आइशैडो सूट कर सकता है। इसके अलावा आप डार्क आई-पॉपिंग कलर्स जैसे डार्क ब्लू, पर्पल, पन्ना ग्रीन आदि भी ट्राई कर सकती हैं।

ओलिव स्किन के लिए आईशैडो

लिपस्टिक

ऑलिव स्किन के लोगों को लिये लिपिस्टिक का रंग चुनते समय कुछ सावधानी रखने के काफी जरूरत होती है। हम अंडरटोन के कारण हल्के मैट से लेकर ब्राट्स शेड्स के कलर चुन सकते है। इसके अलावा ‘न्यूड’ शेड की लिपिस्टिक त्वचा में अच्छा निखार दे सकती है। इससे चेहरे के परफेक्ट लुक देखने को मिलता है।

हाइलाइटर और कॉनटूर्स

हाइलाइटर का उपयोग करके आप अपनी त्वचा को कास लुक दे सकती है। यह चेहरे की बनावट को भी हाइलाइट करने में मदद करता है और मेकअप को एक कलर बूस्ट देता है लेकिन सका पयोग इतना ना करें की चेहरा प्लास्टिक जैसा दिखने लगे!

हाइलाइटर और कंट्रोस

Copyright 2018 hindi.khoobsurati.com

X

खूबसूरती और सेहत का खज़ाना!

स्किनकेयर व मेकअप टिप्स, घरेलू नुस्खे और बहुत कुछ पाएं सिर्फ एक क्लिक पर

पाएं हमारे डेली अपडेट यहाँ.
By subscribing the page, I agree to the terms & conditions.