ADVERTISEMENT

नवजात शिशु की त्वचा का रखे खास ख्याल इन टिप्स से

मां बनना बहुत ही प्यारा अहसास होता है। जब कोई लड़की मां बनती है तो उसकी पूरी जंदिगी ही बदल जाती है। पर मां बनना जितनी खुशी की बात होती है उतनी ही इसके साथ जिम्मदारियां भी बढ़ जाती हैं। बच्चे की त्वचा हमारी त्वचा के मुकाबले बहुत ही नाजुक होती है। जिसके कारण उसका ज्यादा ख्याल रखना पड़ता है उसके लिए कौन सा तेल, साबुन और क्रिम इस्तेमाल करना है इस बात का खास ख्याल रखना पड़ता है। लेकिन अक्सर देखा गया हैं, कि कई लोगों को यह नहीं पता होता है कि नवचात बच्चे की त्वचा का ख्याल किस तरह से रखना चाहिए। अगर आप भी अभी-अभी मां बनी है और नहीं जनती है कि किस तरह आप अपने नवजात शिशु की त्वचा का ख्याल रख सकती है तो घबराईये मत आज हम आपके लिए कुछ ऐसे टिप्स लेकर आए है जिनकी मदद से आप अपने शिशु की त्वचा का खास ख्याल रख सकती है इतना ही नही इन टिप्स से आप उसकी त्वचा को गोरा और मुलायम भी बना सकती है।

नवचात-शिशु-की-त्वचा-को-रखे-खास-खयाल-इन-टिप्स-सेImage Source: https://isee-ato.com/

1. दुध, बेसन और गुलाबजल का इस्तेमाल- अक्सर महिलाएं बच्चे कि त्वचा के लिए केवल तेल का ही प्रयोग करती है लेकिन केवल तेल का इस्तेमाल करना ही काफी नही होता है। अगर आप भी चाहती हैं, कि आपके शिशु की त्वचा की नमी बनी रहें तो कम से कम से कम महीने में एक बार उसकी त्वचा को गुलाबजल, दुध और बेसन के पेस्ट से स्क्रब जरुर करें। इससे उसकी त्वचा पर मौजूद सभी प्रकार की गंदगी साफ हो जाएगी और उसकी त्वचा पहले से ज्यादा चमकदार भी लगने लगेगी। लेकिन इस पेस्ट को बनाते समय इस बात का ध्यान जरुर रखें की इस पेस्ट में गुलाबजल की मात्रा ज्यादा ना हों।

दुध-बेसन-और-गुलाबजल-का-इस्तेमालImage Source: https://4.bp.blogspot.com/

2. बेबी सोप का प्रयोग- शिशु के स्नान की जब भी बात आती है तो महिलाएं अक्सर एक बहुत बड़ी गलती कर देती है कि वह किसी भी प्रकार के सोप का प्रयोग कर के शिशु को नहला देती हैं, जिसके कारण शिशु की त्वचा काफी रुखी-रुखी हो जाती है। अगर आप अपने शिशु की त्वचा को रुखेपन से बचान चाहती है तो अच्छा होगा कि आप उसे केवल बेबी सोप से ही स्नान कराएं तथा सप्ताह में एक या दो बार उसे दूध या गुलाबजल से भी स्नान कराएं। दूध शिशु की त्वचा की नमी को बनाए रखने में बहुत मदद करता है।

बेबी-सोप-का-प्रयोगImage Source: https://www.babeeni.com/

3. गुनगुने पानी का प्रयोग करें- शिशु की त्वचा बहुत ही नाजूक होती है इस बात को तो सभी मानते है पर फिर भी कई बार महिलाएं बच्चे के स्नान के लिए गर्म पानी का इस्तेमाल करने लगती है। शिशु की त्वचा के लिए ज्यादा गर्म पानी का प्रयोग करना काफी हानीकारक होता हैं, इससे उसकी त्वचा ड्राई हो जाती हैं। तो अच्छा होगा की आप जब भी अपने शिशु के लिए पानी गर्म करें तो इस बात का खास ख्याल रखें की वह ज्यादा गर्म ना हो। इतना ही नही जितना हो सके उसे केवल गुनगुने पानी से ही स्नान कराएं। वैसे महिलाए सर्दियों में तो शिशु के स्नान के लिए गर्म पानी का प्रयोग करती है पर गर्मियों के दिनों में ठंडे पानी का ही प्रयोग करने लगती है लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए। गर्मी हो या सर्दी शिशु को केवल गुनगुने पानी से ही नहलाना चाहिए।

गुनगुने-पानी-का-प्रयोग-करेंImage Source: https://www.quicktipsfornewdads.com/

4. चंदन, दुध और हल्दी का पेस्ट बनाए- अगर आप भी चाहती है कि आपके शिशु की त्वचा साफ और खिली-खिली लगे, तो उसके लिए आप चंदन, दुध और हल्दी का प्रयोग कर सकती है। इसके लिए एक चम्मच हल्दी और कुछ बूंद दूध की लेकर एक पेस्ट बना लें फिर उसमें एक चम्मच चंदन का पाउडर मिला लें, इस पेस्ट को अच्छे से मिला कर एक गाढ़ा सा पैक बना लें। उसके बाद महिनें में कम से कम एक या दो बार इस पैक को अपने शिशु की त्वचा पर लगांए। इससे उसकी त्वचा साफ हो जाएंगी।

चंदन,-दुध-और-हल्दी-का-पेस्ट-बनाएImage Source: https://crazyswagger.com/

5. तेल मालिश करें- तेल मालिश करना भी शिशु की त्वचा के लिए सबसे अच्छा होता है। लेकिन अगर इसे सही से ना किया जाए तो यह हानिकारक भी हो सकता है। तो अच्छा होगा की तेल मालिश करते समय बहुत ही सावधानी बरतें। इतना ही नहीं आप जब भी मालिश के लिए तेल का इस्तेमाल करें तो इस बात का भी ध्यान जरूर रखें की तेल हल्का गुनगुना हो। वैसे आपको बता दे कि शिशु की तेल मालिश हर रोज दिन में कम से कम दो बार जरूर करनी चाहिए। इसके अलावा रात को शिशु को सुलाने से पहले भी उसकी तेल मालिश अवश्य करें।

तेल-मालिश-करेंImage Source: https://www.hampshirechronicle.co.uk/

6. फलों के जूस पिलाएं- ऐसा नही हैं कि केवल तेल मालिश या पैक के प्रयोग से ही आप अपने शिशु की त्वचा को निखार सकती है। शिशु की त्वचा को जीतनी जरूरत मालिश की होती है उतनी ही आवश्यकता पौष्टिक तत्वों की भी होती है। इसके लिए आप उसे थोड़ा-थोड़ा सेब, संतरे और अंगूर आदि फलों का जूस भी पीला सकती हैं, इससे उसके शरिर को सभी प्रकार के पौष्टिक तत्व मिल जाएगें। लेकिन जूस पीलाते समय इस बात का भी ध्यान रखें की आप जिस भी फल का जूस बनाने जा रही हैं, वह उस मौसम में मिलने वाला फल ही हो क्योकि आजकल बाजारों में बेमोसम के फल भी मिलने लगे हैं, जो आपके शिशु के स्वास्थ्य को खराब कर सकते है।

 

फलों-के-जूस-पिलाएंImage Source: https://cache3.asset-cache.net/

Copyright 2018 hindi.khoobsurati.com

X

खूबसूरती और सेहत का खज़ाना!

स्किनकेयर व मेकअप टिप्स, घरेलू नुस्खे और बहुत कुछ पाएं सिर्फ एक क्लिक पर

पाएं हमारे डेली अपडेट यहाँ.
By subscribing the page, I agree to the terms & conditions.